Thursday, 22 October 2020

पीछे नहीं हटना / कवि - डॉ. मनोहर अभय

नवगीत

FB+ Bejod  -हर 12 घंटे पर देखिए )



(डॉ. मनोहर अभय मुम्बई में रहनेवले दोहा विधा में सिद्धस्त देश के वरिष्ठ कवि हैं जो 'अग्रीमान' नामक राष्ट्रीय साहित्यिक पत्रिका के सम्पादक भी हैं. नवगीत आंदोलन से इनका गहरा नाता रहा है और डॉ. राघवेंद्र तिवारी के अभिनव गीत आंदोलन के भी ये अनुमोदक रहे हैं. इनकी रचनाओं में राष्ट्रवाद का स्वर समय-समय पर उभरता है किन्तु इनका कहना है कि इनका राष्ट्रवाद किसी प्रकार के कट्टरतावाद या संकीर्णतावाद का पर्याय नहीं है बल्कि राष्ट्र के हित में स्वयं को समर्पित करना है. देश की समस्याओं और उनकी जटिल स्वरूप से ये पूरी तरह वाक़िफ हैं और उनके बारे में खुल कर चर्चा करने में कोई हिचक नहीं दिखाते हैं. इनके दोहे अत्यधिक लोकप्रिय हैं और उनमें कोई उपदेशात्मकता नहीं होती बल्कि समय की संवीक्षा विद्यमान रहती है. उसी तरह से इनके नवगीत भी सामाजिक-राजनीतिक परिस्थितियों से जूझते दिखाई देते हैं. शब्दों के धनी इनके शिल्प में लयात्मकता तो है पर कटु यथार्थ का पैनापन भी है. भाषा कभी-कभी जटिल हो जाती है और ध्यान देकर समझना पड़ता है जो कि इनके संदेशों की गहराई का परिचायक भी है. आइये देखते हैं इनके हाल में रचित कुछ नवगीतों को - सम्पादक)

1.  लौट आओ 


अंधी गली है साँकरी
कहाँ  जाओगी 
लुटेरे जागे हुए हैं 
       लौट आओ | 
एक पल में फेंक दीं 
आँगने  में चाबियाँ 
याद आई नहीं  तुमको 
खैय्याम की रूबाइयाँ 
सर्पिणी सी रात है 
सपेरे जागे हुए हैं 
        लौट आओ | 

तर्क औ' वितर्क में 
भावनाएँ  सो गईं 
श्रद्धा -इड़ा के दवंद्व  में
संवेदनाएँ  खो गईं 
बहला  रही 
मधुमास की मीठी छुअन 
सपने घनेरे 
 जागे हुए हैं
       लौट आओ |

देर कुछ लगती नहीं        
तोड़ने में खिड़कियाँ 
भूल पाओगी भला 
वो वसंती थपकियाँ
सात स्वर के सात फेरे
              जागे हुए हैं
              लौट आओ |

रुख बदलतीं  हैं सदा 
 नाजुक हवाएँ संदली 
धूप की कलियाँ चटखतीं 
या   छाँव की हो  बादली 
दर्प की दामिनी टूट जाएगी 
अँधेरे में सवेरे जागे हुए हैं
                    लौट आओ | 

ढूँढती रह जाओगी 
टहनियाँ फूलों लदी 
रेत  में खो जाएगी 
जब प्यास की पागल नदी
करवट बदलतीं मछलियाँ
मछेरे जागे हुए हैं 
        लौट आओ | 

रतनारे नयन से पौंछ लो 
बहता हुआ ये  नीर 
लो सम्हालो पुरुषत्व का 
तीरों भरा तूणीर 
नव्यता  के कमेरे 
          जागे हुए हैं 
         लौट आओ |
.......


2. बिरवे


बिरवे 
गुनगुनी धूप को
             तरसे |
सीलन ने गला दिए 
हथेली हाथ पाँव 
पनपने देती नहीं
बरगद की छाँव 
बिरवे 
खुली धूप को 
            तरसे |

उपवास जारी है 
विचारे चातक का 
उपदेश चल रहा 
अघाए वाचक का 
जाने कब
स्वाति घन बरसे|

ज्योति कलश
झपट लिए गिद्धों ने  
किरणों के बिछौने 
दबा लिए सिद्धों ने 
उचकि- उचकि 
तिमिरा  हुलसे |

नोची-खरोंची सी
चाँदनी आई 
लज्जा की ओढ़नी 
मावस  ने चुराई
लज्जाशीला 
कूद पडी पुल से | 
.......


3. पीछे नहीं हटना

धर दिए पग
अँगारों पर 
फफोलों से नहीं डरना |

दहकती रेत पर चलते
गई लम्बी उमर
चटखती  धूप ने 
छोड़ी नहीं कोई कसर
पाँव धोएगा तुम्हारे 
     दूधिया झरना  |

गगन की वाटिका में 
संजीवनी उगने लगी 
सोन चिड़िया सुहानी
अँधेरा चुगने लगी 
सूर्य के अमृत कलश 
ला रही सुहागिनें  
सहेज कर रखना |

घना कितना अँधेरा हो
 टिक नहीं सकता
उजाला किसी  हाट में 
बिक नहीं सकता 
लड़ाई है
अँधेरे औ' उजीते  की 
सम्हल कर लड़ना |

शक्ति के रनिवास से 
मुक्त होंगीं बांदियाँ 
होंगी हमारे हाथ में 
कुबेर की सब चाबियाँ 
हिरासत में पड़ी होगी 
 बूढ़े यक्ष की  वर्जना |

समेंटो नहीं आयुध 
अभी संग्राम बाक़ी है 
कड़कती आवाज का 
अभी परिणाम बाकी है 
चल पड़ीं हैं
टोलियाँ मृत्युंजयी 
पीछे नहीं हटना |
......
कवि - डॉ. मनोहर अभय 
कवि का ईमेल आईडी - manohar.abhay03@gmail.com
प्रतिक्रिया हेतु इस ब्लॉग का ईमेल आईडी - editorbejodindia@gmail.com







3 comments:

  1. Nice Article. Useful information you have provided. Also please dotechnical seo for your tech blog success. Also Read Magneto 2.4 features

    ReplyDelete
  2. Excellent post. I was always checking this blog, and I’m impressed! Extremely useful info specially the last part, I care for such information a lot. I was exploring this particular info for a long time. Thanks to this blog my exploration has ended. Read more details about Satta King and read our blogs here Satta King

    ReplyDelete
  3. Abroad jobs -Latest Job Vacancies In Albertsons Companies, Inc USA

    Latest Job Vacancies

    Store Keeper,Sales,Drivers,Cashier,Cleaner,Bar Attendants,Fruit Packers,Truck Drivers,Welder,Engineer,Hotel workers,Farmers,House keeping,Security guards,Drivers,Assistant Manager,Housekeeping Supervisor,Shuttle driver,Electrical,Accountant,Plumber,Factory worker,General Helper,Call center agent,All Jobs are available at one point so Job Seekers can easily find their dream jobs

    Employment Status:

    • A private accommodation with a furnished sitting room and bedroom
    • A Fixed landline and an Internet ready computer
    • Free Lunch Feeding
    • Free medical care
    • Allowance $850 Dollars
    • Salary: Up to $12,500 Dollars

    Any Fresher or graduate with Sales experience

    Sex: Male / Female

    Education: Minimum Graduation + MBA (Added Advantage)Communication

    Skills: Smart Communicator in English & Hindi (Punjabi,Tamil will be added advantage)

    You must possess a valid international passport before you apply for this job

    Working Hours:10:am to 5:pm
    Status:Full Time Job
    Location: United States Of America

    Any Interested candidate should please Upload Your Resume Today Email: albertsonscompaniesinc456@gmail.com

    Albertsons Companies
    Email: albertsonscompaniesinc456@gmail.com

    ReplyDelete

Now, anyone can comment here having google account. // Please enter your profile name on blogger.com so that your name can be shown automatically with your comment. Otherwise you should write email ID also with your comment for identification.